डॉक्टरों व नर्सिंग स्टाफ ने पोस्टर व स्लोगन से दिया विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर संदेश

डॉक्टरों व नर्सिंग स्टाफ ने पोस्टर व स्लोगन से दिया विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर संदेश

 

 

 

पोस्टर प्रतियोगिता में तनीषा व स्लोगन में अजय रहे अव्वल

 

श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में मनाया गया वर्ल्ड मेंटल हैल्थ डे

 

देहरादून।

 

 

श्री महंत इन्दिरेश अस्प्ताल के मनोरोग विभाग की ओर से सोमवार को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस (वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे) मनाया गया। इस अवसर पर मेडिकल छात्र-छात्राओं ने पोस्टर व स्लोगन लिखकर मानसिक स्वास्थ्य से जुडे़ विभिन्न विषयों को रेखाकित किया व जनजागरूकता की अलख जगाई। उत्कृष्ट पोस्टर व स्लोगन लेखन के लिए छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया गया। मेक मेंटल हेल्थ अ ग्लोबल प्राइओरिटी फॉर ऑल थीम पर आयोजित प्रतियोगिता में 35 मेडिकल छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया। उत्कृष्ट पोस्टर व स्लोगन लेखन के लिए छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया गया।

सोमवार को श्री गुरु राम राय इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एण्ड हेल्थ साइसेज के ऑडिटोरियम में कार्यक्रम का शुभारंभ श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ उदय सिंह रावत, श्री गुरु राम राय इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एण्ड हेल्थ साइसंेज के प्राचार्य डॉ यशबीर दीवान व श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के मनोरोग विभाग के प्रुमुख डॉ शोभित गर्ग ने संयुक्त रूप से किया। कुलपति डॉ यू.एस. रावत ने कहा कि हमारे शारीरिक व मानसिक स्वास्थ्य के बीच गहरा सम्बन्ध है, फिजिकल और मैंटल हेल्थ एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। किसी भी एक पहलू को नजरअंदाज करना बड़ी समस्या का सबब बन सकता है। उन्होंने विश्व भर में मानसिक रोगों के प्रति चिंता जाहिर करते हुए विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के महत्व पर प्रकाश डाला।

श्री गुरु राम राय इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एण्ड हेल्थ साइसंेज के प्राचार्य डॉ यशबीर दीवान ने कहा कि समाज में बच्चे, बड़े बूढ़े से लेकर किसी भी आयु वर्ग का व्यक्ति मानसिक रोग की समस्या की चपेट में हो सकता है। इस समस्या को छिपाने की जगह चिकित्सक की राय लेकर समस्या का समाधान किया जा सकता है। उन्होंने समाज के हर वर्ग का आह्वान किया कि यदि आपके परिवार में या आसपास कोई भी व्यक्ति मानसिक समस्या से घिरा पाया जाता है तो आगे बढ़कर उनकी मदद करें, उन्हें सही काउंसलिंग व परामर्श दिलवाकर उनके मददगार बनें।

इस अवसर पर श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के मनोरोग विभाग में पोस्टर व स्लोगन लेखन प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया।  स्लोगन प्रतियोगिता में एमएससी नर्सिंग प्रथम वर्ष के छात्र अजय अव्वल रहे, एमबीबीएच 2019 बैच की अदिति आर्यन को दूसरा व अनिरूद्ध चमोली को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। पोस्टर प्रतियोगिता में तनीषा गुसाईं सिरमौर बनीं, सोभिया समा को द्वितीय व मौसम कुमारी को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ।

मनोरोग विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ शोभित गर्ग ने कहा कि देश दुनिया में मानसिक रोगों के बढ़ते मामले चिंताजनक हैं। मानसिक मरीजों व उनके परिवार के सदस्यों को मानसिक बीमारी के लक्षण और उसकी रोकथाम के उपयों के बारे में सजग रहना चाहिए। उन्होनंे मानसिक रोगों से बचाव व रोकथाम के महत्वपूर्णं टिप्स दिए। उन्होनंे कहा कि आम दिनचर्या में थोड़ा परिवर्तन लाकर मानसिक रोगों के चक्र को तोड़ा जा सकता है। इस अवसर पर आयोजित स्लोगन प्रतियोगिता में डॉ विनीता गुप्ता, डॉ आलोक कुमार माथुर व डॉ एम.ए.बेग ने निर्णायक की भूिमका निभाई। पोस्टर प्रतियोगिता में डॉ ललित कुमार वार्ष्णेय, डॉ आर.के.वर्मा व डॉ. शीबा, डॉ सीमा आचार्या, डॉ डोरचेम ख्राइम, डॉ निधि जैन ने जज की भूमिका निभाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here