गुंजी, कुटी, नाभीढाँग जैसे अनेक गावों में बड़ी संख्या में बने होमस्टे स्थानीय लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं

telemedicine
telemedicine

मुख्यमंत्री धामी ने श्री आदि कैलाश से लौटते समय मनमोहक दृश्यों से परिपूर्ण, हिमालय की तलहटी में स्थित कुटी गांव में स्थानीय लोगों से भेंट की

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि इस दौरान बड़ी संख्या में उपस्थित मातृशक्ति से मिले असीम स्नेह एवं आशीर्वाद से मन अभिभूत है

 

प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हमारी डबल इंजन सरकार विभिन्न योजनाओं के माध्यम से सीमांत क्षेत्रों में पर्यटन एवं तीर्थाटन का सुनियोजित विकास कर रही है

सीमांत क्षेत्रों में भी अभूतपूर्व रूप से पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं का आवागमन बढ़ा है : धामी

गुंजी, कुटी, नाभीढाँग जैसे अनेक गावों में बड़ी संख्या में बने होमस्टे स्थानीय लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं

पूर्ण विश्वास है कि भविष्य में यह स्थान धार्मिक और आध्यात्मिक पर्यटन के क्षेत्र में आगे बढ़ ‘समृद्ध उत्तराखण्ड’ के संकल्प को साकार करने में मददगार साबित होगा

 

 

 

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने
श्री आदि कैलाश से लौटते समय मनमोहक दृश्यों से परिपूर्ण, हिमालय की तलहटी में स्थित कुटी गांव में स्थानीय लोगों से भेंट की। मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि इस दौरान बड़ी संख्या में उपस्थित मातृशक्ति से मिले असीम स्नेह एवं आशीर्वाद से मन अभिभूत है

मुख्यमंत्री धामी ने कहां कि आदरणीय प्रधानमंत्री Narendra Modi के नेतृत्व में हमारी डबल इंजन सरकार विभिन्न योजनाओं के माध्यम से सीमांत क्षेत्रों में पर्यटन एवं तीर्थाटन का सुनियोजित विकास कर रही है, जिसके परिणामस्वरूप अब सीमांत क्षेत्रों में भी अभूतपूर्व रूप से पर्यटकों एवं श्रद्धालुओं का आवागमन बढ़ा है।.

*गुंजी, कुटी, नाभीढाँग जैसे अनेक गावों में बड़ी संख्या में बने होमस्टे स्थानीय लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। पूर्ण विश्वास है कि भविष्य में यह स्थान धार्मिक और आध्यात्मिक पर्यटन के क्षेत्र में आगे बढ़ ‘समृद्ध उत्तराखण्ड’ के संकल्प को साकार करने में मददगार साबित होगा।*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here