सुरंग के अंदर सभी मजदूर सुरक्षित हैं जिन्हें पाइपलाइन के जरिए खाना, पानी और ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है  

telemedicine

मिशन जिंदगी जारी : ढाई फीट व्यास के पाइप डाले जा रहे है ,इससे सभी 40 मजदूर सुरक्षित बाहर आ जाएंगे

सुरंग के अंदर सभी मजदूर सुरक्षित हैं जिन्हें पाइपलाइन के जरिए खाना, पानी और ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है

बोरिंग कर ढाई फीट व्यास का पाइप डालने का काम अब आरम्भ होगा, और फिर पाइप से ही सभी श्रमिकों को बाहर निकाला जाएगा

ऑगर मशीन ग्राउंड जीरो पर पहुंची इससे सीवर लाइन बनाने की तरह बोरिंग की जाएगी, फिर ढाई फीट पाइप डालकर सभी 40 मजदूरो को सुरक्षित बाहर निकाला जायेगा

निर्माणाधीन सिलक्यारा सुरंग में भूस्खलन हादसे के बाद मौके पर मुख्यमंत्री धामी ने सुरंग के अंदर भूस्खलन का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि सुरंग के अंदर सभी मजदूर सुरक्षित हैं जिन्हें पाइपलाइन के जरिए खाना, पानी और ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है।

देहरादून से बोरिंग के लिए ऑगर मशीन पहुंच गई है जिससे बोरिंग कर ढाई फीट व्यास का पाइप डालने का काम अब किया जाएगा जिससे सभी मजदूरों को बाहर निकाल लिया जाएगा। पर इस काम में आज रात से कल तक का समय लग सकता है।

आपको बता दे कि बीते रविवार को निर्माणाधीन सिलक्यारा सुरंग में भूस्खलन के बाद से 40 मजदूर सुरंग के अंदर हैं। वही घटना के दूसरे आपदा प्रबंधन सचिव डॉ. सिन्हा ने मौके पर पहुंचकर वस्तु स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने बताया कि जहां पर भूस्खलन हुआ है वहां पर सॉफ्ट रॉक है जिसके चलते भूस्खलन हुआ

जेसीबी व अन्य मशीनों से मलबा हटाने का काम जारी है। इसके अलावा मजदूरों को सुरक्षित बाहर निकालने के लिए देहरादून से ऑगर मशीन मंगवाई आ गई है, जिससे कि सीवर लाइन बनाने की तरह बोरिंग की जाएगी।

इस काम को पूरा करने मे लगभग चौबीस घंटे का समय लग सकता है जिसके बाद ढाई फीट व्यास के पाइप डाले जाएंगे,इससे सभी मजदूर बाहर आ जाएंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने दुसरी बार मुख्यमंत्री से फोन पर ली के टनल में फँसे श्रमिकों के बारे में जानकार

पीएम मोदी से धामी ने कहा सुरंग के अंदर फंसे सभी मजदूर सुरक्षित हैं और उन्हें जल्द बाहर निकलने की पूरी कोशिश की जा रही है

 

प्रधानमंत्री दो बार मुख्यमंत्री से स्थिति की जानकारी ले चुके हैं। केंद्रीय गृह मंत्री और रेल मंत्री भी सीएम धामी से बात कर चुके हैं, आज मजदूर टनल से बाहर सुरक्षित निकल जाएंगे!

ग्राउंड जीरो पर गए थे धामी पीएम मोदी ने फिर किया फोन, पूछा कैसे है तक हमारे श्रमिक भाई, धामी ने कहा सभी सुरक्षित है, रेस्क्यू तेजी से जारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से फोन के माध्यम से उत्तरकाशी के सिल्क्यारा के पास टनल में फँसे श्रमिकों के बारे में जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने राहत और बचाव कार्यों की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि विभिन्न राज्य और केंद्रीय एजेंसियां परस्पर समन्वय और तत्परता के साथ राहत और बचाव कार्य में जुटी हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्होंने स्वयं मौके पर जाकर स्थलीय निरीक्षण किया और बचाव कार्यों पर लगातार नजर रखें हैं। बचाव कार्य के लिए बड़े व्यास के ह्यूम पाइप हरिद्वार और देहरादून से भेजे गये है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सुरंग के अंदर फंसे सभी मजदूर सुरक्षित हैं और उन्हें जल्द बाहर निकलने की पूरी कोशिश की जा रही है।

अब तक प्रधानमंत्री दो बार मुख्यमंत्री से स्थिति की जानकारी ले चुके हैं। केंद्रीय गृह मंत्री और रेल मंत्री भी सीएम धामी से बात कर चुके हैं। केंद्रीय एजेंसियां और एक्सपर्ट मौके पर मौजूद हैं।

वही सिलक्यारा सुरंग के भू धंसाव से अवरुद्ध हिस्से में बड़े व्यास के एमएस पाइप डालकर फंसे मजदूरों को निकालने के लिए क्षैतिज ड्रिलिंग हेतु ऑगर मशीन के लिए प्लेटफार्म तैयार किया जा रहा है। 900 एमएम व्यास के पाइपों से लदे ट्रक मध्यरात्रि से ही सिलक्यारा पहुंचना शुरू हो गए हैं।

*सिल्क्यारा बचाव अद्यतन*

*1-* 900 मिमी व्यास के पाइप। साइट पर पहुंचे.

*2-* ऑगर ड्रिलिंग मशीन साइट पर पहुंच गई है.

*3-* ऑगर मशीन के लिए प्लेटफार्म तैयार कर लिया गया है.

*4-* ऑगर ड्रिलिंग मशीन की स्थापना का कार्य प्रगति पर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here