गढ़वाल मेरी मातृभूमि मुझे मातृभूमि का ऋण चुकाना है :अनिल बलूनी

telemedicine

भाजपा प्रत्याशी अनिल बलूनी ने कहा अबकी बार 400 पार, फिर से मोदी सरकार, इस नारे के साथ मैं चुनाव में जाऊंगा…

एक पत्रकार से लेकर राज्यसभा तक का सफर कर चुके बलूनी लोकसभा का चुनाव लड़ने के लिए कमर कस चुके हैं…

गढ़वाल मेरी मातृभूमि मुझे मातृभूमि का ऋण चुकाना है :अनिल बलूनी

जानिए राज्यसभा सांसद के रूप में बलूनी का केसा रहा काम काज….

लोक पर्व ईगास को नई पहचान दिलाने और अपने पैतृक गांव में अपना वोट बनाने जैसी कई पहलों को लेकर चर्चा में रहने वाले पीएम मोदी के करीबी अनिल बलूनी पौड़ी लोकसभा से लड़ेंगे चुनाव

पौड़ी में तारामंडल और माउंटेन म्यूजियम के निर्माण के लिए सांसद निधि से 15 करोड़ की राशि जारी करने वाले अनिल बलूनी को भाजपा ने बनाया गढ़वाल लोकसभा से प्रत्याशी

भाजपा ने गढ़वाल संसदीय सीट से अनिल बलूनी को कांग्रेस के गणेश गोदियाल की टक्कर में उतारा है। बलूनी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के करीबी माना जाता है। बलूनी इससे पहले कोटद्वार विधानसभा से भी चुनाव लड़ चुके हैं। लोकसभा सीट पर यह उनका पहला चुनाव है।

पौड़ी गढ़वाल में जन्मे बलूनी केंद्रीय राजनीति में लंबे समय से सक्रिय हैं। वर्तमान में उनके पास राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी की अहम जिम्मेदारी है। सियासी जानकारों का कहना है कि चुपचाप अपने काम में सक्रिय रहते है भाजपा के वर्चस्व वाली गढ़वाल सीट पर कांग्रेस 2014 से लगातार चुनाव हारी है। इस सीट पर पार्टी ने गणेश गोदियाल को मैदान में उतारा। ठाकुर मतदाता बहुल इस सीट पर गोदियाल और बलूनी दोनों ब्राह्मण और नए चेहरे हैं।

राज्य सभा सांसद के तौर पर पलायन रोकने, सीमांत इलाकों में सैनिक अस्पतालों में आम नागरिकों को प्राथमिक उपचार देने, लोक पर्व ईगास को नई पहचान दिलाने और अपने पैतृक गांव में अपना वोट बनाने जैसी कई पहलों को लेकर बलूनी चर्चाओं में रहे हैं। अब इन्हीं कामों को लेकर बलूनी गढ़वाल के चुनावी समर में दिखाई देंगे। एक पत्रकार से लेकर राज्यसभा तक का सफर कर चुके बलूनी लोकसभा का चुनाव लड़ने के लिए कमर कस चुके हैं

गढ़वाल सीट से भाजपा प्रत्याशी अनिल बलूनी का प्रोफाइल
– छात्र जीवन से राजनीति में सक्रिय रहे।
– गुजरात, बिहार के राज्यपाल के ओएसडी रहे।
– 2000 में भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश महामंत्री रहे।
– 26 वर्ष की आयु में 2002 में कोटद्वार विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी रहे (तकनीकी कारण से नामांकन निरस्त)

– 2005 में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद कोटद्वार से उप चुनाव लड़ा।

– 2009 में वन एवं पर्यावरण राज्य मंत्री रहे।

– 2012 में प्रदेश भाजपा प्रवक्ता का पद संभाला

– 2014 में बनारस लोकसभा चुनाव में मीडिया प्रबंधन की जिम्मेदारी संभाली, राष्ट्रीय प्रवक्ता बने

– 2015 से वर्तमान तक भाजपा राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख व मुख्य प्रवक्ता

– 2018 में उत्तराखंड से राज्यसभा सांसद बने।
– 2024 में उनका कार्यकाल समाप्त हो रहा है।

राज्यसभा के रूप में बलूनी का काम काज….
2018 में देहरादून से काठगोदाम तक नैनी-दून जनशताब्दी एक्सप्रेस।

फरवरी 2021 में टनकपुर से दिल्ली तक पूर्णागिरि जनशताब्दी एक्सप्रेस का संचालन शुरू कराया।

मार्च 2021 में कोटद्वार से दिल्ली तक श्री सिद्धबली जनशताब्दी एक्सप्रेस शुरू कराई।

अक्तूबर 2023 कोटद्वार से आनंद विहार दिल्ली तक नई रात्रि ट्रेन का संचालन शुरू कराया।

प्रदेश के सीमावर्ती क्षेत्र के लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने को सेना और अर्द्ध सैनिक बलों के अस्पतालों में ओपीडी की सुविधा, मोहंड डाट काली मंदिर के बीच संचार सेवा के लिए मोबाइल टावर, फरीदाबाद से रामनगर के लिए बस सेवा शुरू की।

नैनीताल जिले के रामनगर के निकट धनगढ़ी पुल का निर्माण,

राज्य में पहले इंटरनेट एक्सचेंज का कार्य शुरू कराया।
कुमाऊं मंडल के लिए एम्स ऋषिकेश के सेटेलाइट सेंटर की स्वीकृति दिलाई।

केंद्र सरकार के सहयोग से लैंसडोन, सुरकंडा, मुकतेश्वर में डाप्लर रडार स्थापित कराए।

प्रधानमंत्री की विशेष निधि से मसूरी के लिए 187 करोड़ रुपये की पेयजल योजना की स्वीकृति,

सांसद निधि से कोटद्वार उत्तरकाशी और रामनगर में आईसीयू वेंटीलेटर स्थापित किए।

पौड़ी में तारामंडल और माउंटेन म्यूजियम के निर्माण के लिए सांसद निधि से 15 करोड़ की राशि जारी की।

मुझे मातृभूमि का ऋण चुकाना है :अनिल बलूनी

भाजपा प्रत्याशी अनिल बलूनी ने कहा कि अबकी बार 400 पार, फिर से मोदी सरकार, इस नारे के साथ मैं चुनाव में जाऊंगा।

गढ़वाल में मेरी मातृभूमि है। मुझे मातृभूमि का ऋण चुकाना है। राज्यसभा सदस्य के नाते मुझे जनता की सेवा करने का जो अवसर मिला, मैंने पूरी निष्ठा और ईमानदारी से अपने कर्तव्य को निभाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। मैं पूरे लोकसभा क्षेत्र के लिए कुछ ऐसा करना चाहता हूं, जिससे उनका जीवन आसान और सुविधाजनक हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here