श्री महन्त देवेन्द्र दास जी ने कहा कि परोपकार सबसे सच्चा धर्म है। इसीलिए कहा गया है कि परहित सरस धर्म नहीं भाई। साथ ही शिक्षा एवं स्वास्थ्य मानव जीवन की प्रगति के आधार हैं। इसी उद्देश्य को लेकर श्री गुरु रामराय दरबार साहिब मिशन शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपनी अग्रणी सेवाऐं प्रदान कर रहा है।

telemedicine

परोपकार सबसे बड़ा व सबसे सच्चा धर्म: श्रीमंहत देवेंद्र दास जी महाराज


श्री दरबार साहिब परिसर में श्री महाराज जी ने किया रक्तदान शिविर का शुभारंभ श्री महाकाल सेवा समिति (रजि ) द्वारा रक्तदान शिविर में 105 यूनिट रक्तदान

श्री महन्त देवेन्द्र दास जी ने कहा कि परोपकार सबसे सच्चा धर्म है। इसीलिए कहा गया है कि परहित सरस धर्म नहीं भाई। साथ ही शिक्षा एवं स्वास्थ्य मानव जीवन की प्रगति के आधार हैं। इसी उद्देश्य को लेकर श्री गुरु रामराय दरबार साहिब मिशन शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपनी अग्रणी सेवाऐं प्रदान कर रहा है।

 

देहरादून:

विश्व रक्तदाता दिवस ( डॉ० कार्ल लैंडस्टीनर के जन्म दिवस 14 जून) के उपलक्ष में श्री महाकाल सेवा समिति द्वारा, जिला यूथ रेडक्रास कमेटी के संयुक्त तत्वावधान तथा श्री महन्त इंद्रेश हाॅस्पिटल ब्लड बैंक के सहयोग से श्री गुरु रामराय झण्डा साहिब के प्रांगण में रक्तदान शिविर, विचार गोष्ठी तथा रक्तदाता सम्मान समारोह का आयोजन किया गया।
रक्तदान शिविर में युवा पुरुष एवं महिला रक्तदाताओं द्वारा कुल 105 यूनिट रक्तदान किया गया।
शिविर का उद्घाटन मुख्य संरक्षक श्री गुरु राम राय शिक्षा एवं चिकित्सा मिशन के प्रमुख श्री महंत देवेन्द्र दास जी महाराज द्वारा ज्योत प्रज्वलित कर हुआ, विशिष्ट अतिथियों में मेयर सुनील उनियाल गामा, लाल चंद शर्मा, शिवा वर्मा, पंकज मैसन, मोन्टी कोहली, भारतीय रेडक्रास सोसायटी , देहरादून के चेयरमैन डॉ० एम एस अंसारी , जिला यूथ रेडक्रास कमेटी के चेयरमैन अनिल वर्मा , श्री महाकाल सेवा समिति के अध्यक्ष श्री रोशन राणा, मेजर प्रेमलता वर्मा , पुष्पा भल्ला, रजनी राणा, महन्त इंद्रेश ब्लड बैंक के कोआर्डिनेटर श्री अमित चंद्रा उपस्थित रहे
श्री महन्त देवेन्द्र दास जी ने कहा कि परोपकार सबसे सच्चा धर्म है। इसीलिए कहा गया है कि परहित सरस धर्म नहीं भाई। साथ ही शिक्षा एवं स्वास्थ्य मानव जीवन की प्रगति के आधार हैं। इसी उद्देश्य को लेकर श्री गुरु रामराय दरबार साहिब मिशन शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में अपनी अग्रणी सेवाऐं प्रदान कर रहा है। जहां तक प्रश्न रक्तदान शिविरों के आयोजन का है, श्रीमहाकाल सेवा समिति द्वारा प्रत्येक तीन माह के अंतराल पर यह 14 वां रक्तदान शिविर श्री महन्त इंद्रेश हाॅस्पिटल ब्लड बैंक के सहयोग से आयोजित किया जाना विशेष रूप से प्रशंसनीय सेवा कार्य है ।
रक्तदाता सम्मान समारोह के अंतर्गत मुख्य अतिथि श्री महन्त देवेन्द्र दास जी महाराज ने रक्तदान के क्षेत्र में अब तक 141 बार रक्तदान कर चुके शिरोमणि अनिल व राहुल कपुर, सचिन आनंद, राजीव सच्रर, पुनीत जैन और कई रक्तदाताओ द्वारा रक्तदान किया गया…………. को *” डाॅ० कार्ल लैण्डस्टीनर रक्तदाता भूषण अवॉर्ड “* प्रदान करके सम्मानित सम्मानित किया।
विशिष्ट अतिथि भारतीय रेडक्रास सोसायटी के चेयरमैन डॉ० एम एस अंसारी ने कहा कि रक्तदान जीवनदान का ही पर्याय है। प्रतिदिन दुर्घटनाओं अथवा शल्य चिकित्सा हेतु बड़ी मात्रा में रक्त की आवश्यकता होती है अतः प्रत्येक युवा को प्रत्येक तीन माह में स्वेच्छापूर्वक रक्तदान अवश्य करना चाहिए।
बतौर मुख्य वक्ता व अबतक 141 से अधिक बार रक्तदान कर चुके रक्तदाता शिरोमणि अवार्ड सहित अनेक अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय व प्रदेश स्तरीय पुरस्कार प्राप्त यूथ रेडक्रास कमेटी के चेयरमैन अनिल वर्मा ने कहा कि हमारा थोड़ा सा रक्त और थोड़ा सा वक्त यदि किसी मृतप्राय व्यक्ति को जीवनदान देकर उसकी व उसके परिवार की खुशियां लौटा सकता है , तो हमें ऐसा पुनीत कार्य अवश्य करना चाहिए।
श्री महाकाल सेवा समिति के अध्यक्ष श्री रोशन राणा ने अध्यक्षीय संबोधन में कहा , जैसा कि विदित ही है कि रक्त न तो फैक्ट्रियों में बनाया जा सकता है न ही किसी जानवर का रक्त मनुष्य को चढ़ाया जा सकता है। साथ ही रक्त को ज्यादा दिनों तक स्टोर करके भी नहीं रखा जा सकता। अतः ब्लड बैंकों में रक्त की आवश्यकता लगातार बनी रहती है। इसी उद्देश्य की पूर्ति को दृष्टिगत रखते हुए हमारी सेवा समिति प्रत्येक तीन माह के अंतराल पर लगातार रक्तदान शिविरों का आयोजन करती है। इसमें परम श्रद्धेय श्री महंत देवेंद्र दास महाराज जी , मेयर श्री सुनील उनियाल गामा, श्री लाल चंद शर्मा जी, शिवा वर्मा, बजरंग दल से श्री विकास वर्मा जी अपनी टीम के साथ ,श्रीमहंत इंद्रेश ब्लड बैंक के समन्वयक श्री अमित चन्द्रा व टीम का साथ सफल संचालन हेतु डॉ० नितिन अग्रवाल, डॉ० पुनीत जैन कृतिका राणा , अनुष्का राणा, हेमराज अरोड़ा,आलोक जैन, पुनीत जैन, राकेश आनंद, सचिन आनंद,, सचिन जैन, राहुल माटा, सागर खरबंदा, संजीव गुप्ता ,बी के शर्मा, रविंद्र , वैभव,तथा अक्षत नागलिया का विशेष योगदान रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here