रानीबाग पुल के लोकार्पण के बाद मुख्यमंत्री ने किया जनसभा को सम्बोधित

telemedicine

*रानीबाग पुल के लोकार्पण के बाद मुख्यमंत्री ने किया जनसभा को सम्बोधित*

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने महर्षि विद्या मंदिर, अमृतपुर हल्द्वानी में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार योजनाओं के शिलान्यास के साथ ही लोकार्पण के लिए भी संकल्पबद्ध है। इसी क्रम में आज रानीबाग पुल का लोकार्पण किया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जमरानी बांध परियोजना का कार्य भी जल्द ही शुरू किया जाएगा। इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा सहमति दे दी गई है। भारत नेट योजना के तहत भारत सरकार द्वारा लगभग 1200 टावर 4 जी के लिए विभिन्न स्थलों पर स्वीकृत किये गए है। इस योजना के अंतर्गत लगभग 02 हजार गांवों को इंटरनेट से जोड़ा जा सकेगा, साथ ही एच एम टी की भूमि पर मिनी सिडकुल प्रस्तावित किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहाड़ी क्षेत्रों में सम्पर्क सुविधा में सुधार हेतु भारत सरकार की पर्वतमाला परियोजना के अंतर्गत रोपवे विकास कार्यक्रम का सर्वाधिक लाभ उत्तराखंड को मिलेगा जिसमें 40 प्रमुख स्थलों को जोड़ा जाएगा। इसके साथ ही पंतनगर हवाई अड्डे को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाया जा रहा है जिसके बनने के बाद कुमाऊँ से भी दुनिया भर की उड़ान शुरू होगी।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में पलायन रोकथाम योजना प्रारम्भ की गई है जिसके तहत लोगों को स्वरोजगार से जोड़ा जा रहा है। इसके साथ ही उत्तराखंडवासियों को स्वरोजगार के लिए ऋण हेतु अनावश्यक चक्कर न काटने पड़े, इसका भी समाधान किया जा रहा है। सरकार का प्रयास है कि उत्तराखंड की भौगोलिक विषमता के आधार पर योजना बनाई जाए, जिससे अधिकतम लोग योजना का लाभ उठा सके। इसके लिए नीति आयोग व क्षेत्रीय परिषद की बैठक में भी चर्चा हुई है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि राज्य में भर्तियों में जो भी घपले सामने आ रहे है उसमें सरकार किसी को भी बख्शने वाली नहीं है, दोषी चाहे कितना बड़ा भी हो उस पर कार्रवाई की जाएगी। इसी क्रम में 2015 की दरोगा भर्ती की जांच भी एसटीएफ को दी गई है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रानीबाग पुल निर्माण की कार्यदाई संस्था हिलवेज कंस्ट्रक्शन कंपनी के सभी इंजीनियर की तारीफ की. उन्होंने पुल निर्माण टीम में शामिल इंजीनियर स्वाति पंत को भी सम्मानित किया।

इस अवसर पर केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट ने कहा कि अग्निपथ योजना में पहाड़ी युवाओं के लिए शारीरिक मापदण्ड (ऊंचाई व सीने) में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। पूर्व की भांति ही शारीरिक मापदण्ड की व्यवस्था की है।

कार्यक्रम में जनपद प्रभारी मंत्री एवं खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, महिला सशक्तिकरण रेखा आर्या, अध्यक्ष जिला पंचायत बेला तोलिया, पूर्व मंत्री एवं विधायक बंशीधर भगत, विधायक राम सिंह कैडा, डा0 मोहन बिष्ट, वन विकास निगम अध्यक्ष कैलाश गहतोड़ी, मेयर डा0 जोगेन्दर पाल सिह रौतेला, जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट के साथ ही जनपदीय अधिकारियों के साथ क्षेत्रीय जनता एवं गणमान्य लोग उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here