भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा धाद स्मृति वन प्रवेश मार्ग में 75 पौधे रोप गए निगम के द्वार आयोजित बीमा सप्ताह का समापन मालदेवता स्थित धाद स्मृति वन में बोतल ब्रश नीलमोहर और अमलतास के पौधे रोपने के साथ हुआ.

telemedicine

भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा धाद स्मृति वन प्रवेश मार्ग में 75 पौधे रोप गए निगम के द्वार आयोजित बीमा सप्ताह का समापन मालदेवता स्थित धाद स्मृति वन में बोतल ब्रश नीलमोहर और अमलतास के पौधे रोपने के साथ हुआ.

भारत की आजादी के 75 वे वर्ष में प्रवेश के अवसर पर भारतीय जीवन बीमा निगम द्वारा धाद स्मृति वन प्रवेश मार्ग में 75 पौधे रोप गए निगम के द्वार आयोजित बीमा सप्ताह का समापन मालदेवता स्थित धाद स्मृति वन में बोतल ब्रश नीलमोहर और अमलतास के पौधे रोपने के साथ हुआ.

इस अवसर पर निगम के देहरादून मंडल के वरिष्ठ मंडल प्रबंधक पूनीत कुमार सिंघल ने कहा कि निगम ने देश की स्वतंत्रता के पश्चात उसके निर्माण और विकास में महत्वपूर्ण भूमिक निभाई है आम समाज को बीमा सुरक्षा देने के साथ निगम देश के विभिन्न सामाजिक सरोकारों में भी जुड़ा रहा है इसी क्रम में धाड़ की पहल पर विकसित किये जा रहे स्मृति वन के प्रवेश मार्ग पर यह पौधा रोपण किया गया है

 

धाद स्मृति वन का परिचय देते हुए संस्था के सचुव तन्मय मांगें ने बताया की हरेला के अभियान के अंतर्गत २०२० में प्रारम्भ किये गए इस वन में उत्तराखंड के लिए श्रेष्ठ् योगदान देने वाले विभीतियों के अलावा आम समाज के लोग अपने प्रियजनों की स्मृति में पौधा लगते हैं और सिकी देखरेख पूरी तरह से आम समाज द्वार ही की जारी है. धाद के अध्यक्ष लोकेश नवनि ने कहा की स्मृतिवन एक सामाजिक प्रयास है धरती के जिस कोने में आप रहे उस कोने को सूंदर बनाने की पहल कीजिये धाद ने आम समाज के सहयोग से इस स्थान को विभिन्न पौधो से केवल रोपित किया है बल्कि भी कर रहे हैं जिसके परिणाम स्वरूप आज अधिकतम पौधे न केवल सुरक्षित है बल्कि पल्लवित हो रहे है

इस अवसर पर विपणन प्रबंधक पवन कुमार रोड प्रबंधक कार्मिक एस पी पंत प्रबंधक विक्रय वि के थपलियाल, एम् एन उनियाल अरविन्द गुप्ता एन सी बड़थ्वाल एन के त्यागी बी पी बलूनी रमेश रावत अजय रावत के के पांडेय हिमांशु भंडारी विक्रांत शेखर काकुली कालरा रीना सोबती अनिल अरोरा अनूप डोभाल राकेश परंडियाल गिरिवर धनै दिलबर कठैत उपस्थित थे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here