जानकारी व चिकित्सकीय परामर्श से कालामोतिया के काले प्रभाव से बच सकते हैं..श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में ग्लूकोमा सप्ताह पर विशेषज्ञों ने सांझा की महत्वपूर्णं जानकारियां

telemedicine

जानकारी व चिकित्सकीय परामर्श से कालामोतिया के काले प्रभाव से बच सकते हैं..श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में ग्लूकोमा सप्ताह पर विशेषज्ञों ने सांझा की महत्वपूर्णं जानकारियां

देहरादून।

 

श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के नेत्र रोग विभाग की ओर से विश्व ग्लूकोमा दिवस मनाया गया। विश्व ग्लूकोमा सप्ताह को दुनिया भर  में 12 मार्च से 18 मार्च के बीच  में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य आमजन को काला मोतियाबिन्द के वैज्ञानिक पक्ष, मेडिकल पक्ष व सामान्य जानकारियों से अवगत कराना है। यह जानकारी श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के नेत्र रोग विभाग की विभागाध्यक्ष डाॅ तरन्नुम शकील ने दी।

 

शनिवार को श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल  में कार्यक्रम का शुभारंभ अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (ब्रिगे. से.नि.) डाॅ प्रेरक मित्तल, डाॅ पुनीत ओहरी कार्यवाहक प्राचार्य श्री गुरु राम राय इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल एण्ड हैल्थ साइंसेज ने दीप प्रज्जवलित कर किया।  कार्यक्रम की मुख्य वक्ता ग्लुकोमा विशेषज्ञ एवम् नेत्र बैंक इंचार्ज, डाॅ नीलम वर्मा, असिस्टेंट प्रोफेसर, हिमालयन अस्पताल ने कहा काला मोतिया के लक्ष्ण, काला मोतिया से मरीजों को होने वाली परेशानियां व जोखिमों के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। मंच सचालन डाॅ प्रिंयका गुप्ता, ग्लूकोमा विशेषज्ञ, एसोसिएट प्रोफेसर, श्री महंत इंदिरेश अस्पताल ने किया।

कार्यक्रम की आयोजक एवम् नेत्र रोग विभागाध्यक्ष डाॅ तरन्नुम शकील ने श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल के चेयरमैन श्रीमहंत देवेन्द्र दास जी महाराज का आभार जताया। उन्होंने मोतिया बिन्द के लक्ष्ण व मोतियाबिन्द के माॅर्डन उपचार की जानकारी सांझा की। इस अवसर पर डाॅ मुजाहिद बेग, डॉ रोबिना मक्कड़, डाॅ एसडी विजय, डाॅ तारिक मसूद, डाॅ सदाकत अली, डॉ राना उस्मानी, डाॅ अरविंद मक्कड, डाॅ आशीष कक्कड, डाॅ मनीषा गुप्ता, डाॅ मोनिका जैन आदि मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here